Jai Shree Mataji,

Dear Sahaj Family,

As you all know that our film “Gruhalakshmi-The Awakening” has been released in theaters since 26th April-2019, and by the grace of Shree Mataji, the film has so far been able to screen more than 150 shows in 14 states and 2 union territories of India. It has been engaged and seen by about 42,000 people, in which about 20,000 new seekers of truth received their Self Realization. Sahaja Yoga has spread like wildfire in the places where this film has been screened, and there has been a rush of new seekers in Sahaja Yoga centers.

The team of the Immaculate Ideal Human Foundation for the film “Gruhalakshmi – The Awakening” was supported by many creative fellow brothers and sisters in this divine work.

I, Sanjay Roshan Talwar, would like to give all of you the privilege of choosing to be part of any one or more of the 7 WhatsApp groups created to produce our next film.

Based on your commitment, ability and skills to fulfill the objectives of our institute, you are requested to choose from the following options. Make sure that you will be able to dedicate your time, money and skills to the leader of your WhatsApp group whenever necessary.

There may be many other members joining the group you selected. So you should know that you will not be alone in this, but will work as a team. Once you have given your name you will need a high level of dedication and commitment. So before considering your name, please consider it very carefully.

All you need to do is mention the serial number from any 1-7 listed below. Please read carefully and send your reply on WhatsApp to any of the contact numbers given below in the next 4 weeks time.

As a Creative Artist, our Foundation will strive to honor your work through payment of honorarium, as we have done in the past. However, you should feel that you are a professional, who should be paid for your work, then you have to tell us now about your fee or remuneration – which will be required for each work you give. You must specify the exact amount for each task. Our trustees will then decide to give you a business proposal, which will be included in the film’s budget, and our offer will be communicated to you at the time the film’s budget is prepared.

Please be honest and transparent about your commitment. We stand with all of our creative artists and with this message, we conclude that we are giving you the first opportunity to be a part of our next film project, before we give our intention to others in waiting for the same work.

So please tell our team about this by November 15, 2019.

Choose from below:

1) Content & Story writing till the final Screenplay. This includes film titling & subtitling work including translations in different languages.

2) Overall Film Production ( this can be only if you can spare a lot of time) Once the project starts, it will require your dedicated time. It is a coordinating work of all departments to make sure the production is planned and executed within the time frame allotted and the budget approved.

3). Acting (will happen when we are ready to shoot). This includes auditioning, preparing to act by organising acting workshops and film dubbing work after the film editing is completed

4). Film Screening & promotion. This means that once the film is ready for release in Theatres, you will be required to deal with media, press, TV and other channels like Netflix etc. It will also mean handling of advertising, press conferences, interviews etc. Also dealing with Sattelite platforms for loading and screening the film across India & overseas.

5). Film fund collection through donations. This will require dedicated time and targets will have to be achieved for every stage of the film project. You will also be responsible for maintaing accounts and issuing receipts to our donors / contributors. You will have to submit a monthly financial report to our NGO accounting head to ensure proper accounting procedures are followed. This is virtually total fund management.

6) Film Making planning, budgeting from the time the story & Screenplay are ready, till the start of film shooting. Coordinating with all the departments to ensure timely execution of the film shoot. You will also be responsible for the travel, food & accommodation of the entire film crew.

7) Film post production work till its final finish of editing, music & sound. Fine tuning of the final film output with all professionals like music director, sound engineer, editor, vfx designer & colour correction work. Preparing of all formats of the film for presentation to the market. This will also include taking CBFC certification.

Choose any one or more of the seven points above, based on your abilities and skills, and be part of a creative group dedicated to that part of the work. Further division of work may be possible, depending on how many individuals join the same group and show serious inclination and knowledge about the given task.

This is an important opportunity given by HH Shri Mataji Nirmala Devi to spread Sahaja Yoga. It is my pure desire that this divine initiative is joined by several fellow brothers and sisters of Sahajayoga Family.

Jai Shree Mataji

Best regards,
Sanjay Roshan Talwar
Managing Trustee
Immaculate Ideal Human Foundation

E-mail address:
immaculateihf@gmail.com

Website: http://iihf.in/

Immaculate team members:

Aparna Gangopadhyay, Kolkata, West Bengal – aparna.gangopadhyay@gmail.com

Darshika Kesarwani, Kanpur, Uttar Pradesh – 9454112189

Rajendra Rinwa, Shajapur, Madhya Pradesh- 9826400276

Rakesh Deshmukh, Mumbai, Maharashtra- 7208083284

Dr. Manish Sood, Kullu, Himachal Pradesh – 9418129007


जय श्री माताजी

प्रिय सहजी परिवार,

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि हमारी फिल्म “गृहलक्ष्मी-द अवेकनिंग” अप्रैल-2019 से सिनेमाघरों में रिलीज हो चुकी है, और श्रीमाताजी की कृपा से इस फिल्म के अब तक 150 से अधिक शो भारत के 14 राज्यों और 2 केंद्र शासित प्रदेश में लग चुके हैं और इसे करीब 42,000 लोगो ने देखा है, जिसमे करीब 20,000 सत्य के नए साधकों ने अपना आत्मसाक्षात्कार प्राप्त किया। जिन-जिन जगहों पर इस फिल्म का प्रदर्शन हुआ है वहां पर सहजयोग आग की तरह फ़ैल गया है, और सहजयोग केन्द्रो में नए साधकों की भीड़ लग गयी है।

फिल्म “गृहलक्ष्मी-द अवेकनिंग” के लिए इमैक्युलेट आइडियल ह्यूमन फाउंडेशन की टीम को कई सारे रचनात्मक सहजी भाई-बहनों ने इस दिव्य कार्य में हमारा साथ दिया।

मैं, संजय रोशन तलवार, आप सभी को हमारी अगली फिल्म के निर्माण के लिए बनाये गए 7 व्हाट्सएप समूहों में से किसी एक या अधिक का हिस्सा बनने का चयन करने का विशेषाधिकार देना चाहूंगा।

हमारे संस्थान के उद्देश्यों की पूर्ति के लिए आपकी प्रतिबद्धता, योग्यता और कौशल को पूरा करने के आधार पर, आपसे निवेदन है कि आप निम्नलिखित विकल्पों में से चुन लें। सुनिश्चित करें कि आप अपने व्हाट्सएप समूह के नेता से जब भी आवश्यक हो, अपना समय, धन और कौशल समर्पित कर सकेंगे।

आपके द्वारा चयनित समूह में शामिल होने वाले कई अन्य सदस्य हो सकते हैं। इसलिए आपको पता होना चाहिए कि आप इसमें अकेले नहीं होंगे, बल्कि एक टीम के रूप में काम करेंगे। एक बार आपके नाम देने के बाद आपसे एक उच्च स्तर का समर्पण और प्रतिबद्धता की आवश्यकता होगी। इसलिए कृपया अपना नाम रखने से पहले, इस पर बहुत सावधानी से विचार करें।

आपको बस नीचे सूचीबद्ध किसी भी 1-7 से सीरियल नंबर का उल्लेख करना होगा। कृपया ध्यान से पढ़ें और अगले 4 सप्ताह के समय में नीचे दिए गए संपर्क नंबर में से किसी पर भी व्हाट्सएप पर अपना जवाब भेजें।

एक क्रिएटिव आर्टिस्ट के रूप में, हमारा संस्थान मानदेय के भुगतान के माध्यम से आपके काम का सम्मान करने का प्रयास करेगा, जैसा कि हमने पूर्व में किया था। हालांकि, आपको यह महसूस करना चाहिए कि आप एक पेशेवर हैं, जिन्हें आपके काम के लिए भुगतान किया जाना चाहिए, तो आपको अपने शुल्क या पारिश्रमिक के बारे में हमें अभी बताना होगा- जो आपके द्वारा दिए जाने वाले प्रत्येक कार्य के लिए आवश्यक होगा। आपको प्रत्येक कार्य के लिए सटीक राशि का उल्लेख करना होगा। हमारा ट्रस्टी तब आपको एक व्यावसायिक प्रस्ताव देने का निर्णय करेगा, जिसे फिल्म के बजट में शामिल किया जाएगा, और फिल्म के बजट की तैयारी के समय हमारी पेशकश आपको बताई जाएगी।

कृपया अपनी प्रतिबद्धता के बारे में ईमानदार और पारदर्शी रहें। हम हमारे सभी रचनात्मक कलाकारों के साथ खड़े हैं और इस संदेश के साथ, हम यह निष्कर्ष निकालते हैं कि हम आपको अपनी अगली फिल्म परियोजना का हिस्सा बनने का पहला अवसर दे रहे हैं, इससे पहले कि हम उसी काम के इंतजार में दूसरों को अपना इरादा बताएं ।

कृपया हमारी टीम को इसके बारे में 15 नवंबर, 2019 तक बताएं।

नीचे से चुनें:

1) अंतिम पटकथा तक कंटेंट राइटिंग और कहानी लेखन। इसमें विभिन्न भाषाओं में अनुवाद सहित फिल्म शीर्षक और उपशीर्षक कार्य शामिल हैं।

2) सम्पूर्ण फिल्म प्रोडक्शन (यह केवल तभी हो सकता है जब आप बहुत समय बचा सकते हैं) एक बार परियोजना शुरू होने के बाद, इसे आपके समर्पित समय की आवश्यकता होगी। यह सुनिश्चित करने के लिए कि आवंटित समय और बजट स्वीकृत है, इस टीम में उत्पादन सुनिश्चित करने और निष्पादित करने के लिए सभी विभागों का समन्वय कार्य शामिल है।

3) अभिनय (तब होगा जब हम शूटिंग के लिए तैयार होंगे)। इसमें अभिनेताओं एवं अभिनेत्रियों की चुनाव प्रक्रिया, एक्टिंग वर्कशॉप के आयोजन से लेकर फिल्म एडिटिंग का काम पूरा होने के बाद, फिल्म की डबिंग का काम शामिल है।

4) फिल्म स्क्रीनिंग और प्रचार– इसका मतलब यह है कि एक बार जब फिल्म थियेटरों में रिलीज के लिए तैयार हो जाती है, तो आपको मीडिया, प्रेस, टीवी और अन्य चैनलों जैसे नेटफ्लिक्स आदि से निपटने के लिए आवश्यक होगा। इसका मतलब विज्ञापन, प्रेस कॉन्फ्रेंस, साक्षात्कार आदि एवं भारत और विदेशों में फिल्म की स्क्रीनिंग करने में भी सहायता करनी पड़ेगी।

5) दान के माध्यम से फिल्म निधि संग्रह। इसके लिए समर्पित समय की आवश्यकता होगी और फिल्म परियोजना के प्रत्येक चरण के लिए लक्ष्य प्राप्त करना होगा। आप खातों को मेनटेन करने और हमारे दाताओं / योगदानकर्ताओं को रसीदें जारी करने के लिए भी जिम्मेदार होंगे। उचित लेखा प्रक्रियाओं का पालन करने के लिए आपको हमारे एनजीओ लेखा प्रमुख को एक मासिक वित्तीय रिपोर्ट प्रस्तुत करनी होगी। यह वस्तुतः कुल निधि प्रबंधन है।

6) फिल्म की शूटिंग शुरू होने तक फिल्म मेकिंग प्लानिंग, कहानी और स्क्रीनप्ले तैयार होने के समय से सभी विभागों के साथ समन्वय करके फिल्म की शूटिंग को समय पर पूरा करना सुनिश्चित करें। आप संपूर्ण फिल्म क्रू की यात्रा, भोजन और आवास के लिए भी जिम्मेदार होंगे।

7) फिल्म के पोस्ट प्रोडक्शन का काम संपादन, संगीत और ध्वनि के अंत तक है। म्यूजिक डायरेक्टर, साउंड इंजीनियर, एडिटर, VFX डिजाइनर और कलर करेक्शन वर्क जैसे सभी प्रोफेशनल्स के साथ फाइनली फिल्म आउटपुट की फाइन ट्यूनिंग करना, बाजार में प्रस्तुति के लिए फिल्म के सभी प्रारूपों की तैयारी। इसमें सीबीएफसी प्रमाण लेना भी शामिल होगा।

ऊपर दिए गए सात बिंदुओं में से किसी एक या एक से ज़्यादा विकल्प का चयन, अपनी योग्यता और कौशल के आधार पर करें, और काम के उस हिस्से को समर्पित- एक रचनात्मक समूह का हिस्सा बनें। आगे कार्य विभाजन संभव हो सकते हैं, यह निर्भर करता है कि कितने व्यक्ति एक ही समूह में शामिल होते हैं और दिए गए कार्य के बारे में गंभीर झुकाव एवं ज्ञान दिखाते हैं।

यह सहजयोग को फ़ैलाने हेतु परम पूज्य श्री माताजी निर्मला देवी द्वारा दिया गया एक महत्वपूर्ण अवसर है और इस दिव्य कार्य में ज़्यादा से ज़्यादा सहजी भाई-बहन जुड़ें, यह मेरी आपसे विनम्र विनती है।

जय श्री माताजी

सादर,
संजय रोशन तलवार,
मैनेजिंग ट्रस्टी,
इमैक्युलेट आइडियल ह्यूमन फाउंडेशन

इमैक्युलेट टीम के सदस्यगण-

अपर्णा गंगोपाध्याय, कोलकाता, पश्चिम बंगाल- aparna.gangopadhyay@gmail.com

दर्शिका केसरवानी, इलाहाबाद, उत्तर प्रदेश- 9454112189

राजेंद्र रिणवा, शाजापुर, मध्यप्रदेश- 9826400276

राकेश देशमुख, मुंबई, महाराष्ट्र- 7208083284

डॉ. मनीष सूद, कुल्लू, हिमाचल प्रदेश- 9418129007

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

code